Karvol Plus Capsule Uses in Hindi – कारवोल प्लस कैप्सूल उपयोग, साइड इफ़ेक्ट

Karvol Plus Capsule Uses in Hindi : स्वागत है दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से हमारे ब्लॉग में। जहां आपको दवाईयों के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती हैं। आज हम जाने वाले हैं Karvol Plus Capsule Uses, Side Effect, Benefit, Composition, Dosage in Hindi अर्थात कारवोल प्लस कैप्सूल का उपयोग, दुष्प्रभाव, फायदे, संगठन, खुराक क्या है?

दोस्तों कारवोल प्लस कैप्सूल जिसे हम सूंघने वाला कैप्सूल (Steam, inhalant Capsule) भी कहते हैं जिसे भाप लेने के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से नाक बंद या फिर जिन लोगों को सांस लेने में प्रॉब्लम होती है उसके ऊपर इसे यूज किया जाता है। इसके अलावा और किन-किन कंडीशन में इसका उपयोग कर सकते हैं? आगे इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं।

यह एक सॉफ्ट जिलेटिन से बना हुआ होता है जो हरे रंग का होता है। इस कैप्सूल फोड़कर सूंघने के लिए उपयोग किया जाता है। लेकिन इस कैप्सूल को कब सूंघना चाहिए? और इसे दिन में कितना बार उपयोग किया जाता है? किन – किन परिस्थितियों में उसका उपयोग करना चाहिए? और साथ ही क्या बच्चों में इसका उपयोग कर सकते हैं? इसके अलावा कई महत्वपूर्ण बातें हैं जिसको जानना आपके लिए बहुत ही आवश्यक है यह सब कुछ इस लेख में हम जानने वाले हैं तो इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़िए। जिससे कि आपको पूरी जानकारी इस कारवोल प्लस कैप्सूल के बारे में मिल सके।

कारवोल प्लस कैप्सूल के 1 पत्ते में 10 कैप्सूल होते हैं। और इस 1 पत्ते का Price 69 रुपए होता है। इसे इंडिको रेमेडीज एल टी डी कंपनी द्वारा बनाया जाता है। जो एक बहुत ही अच्छी कंपनी है।

Karvol Plus Capsule Uses in Hindi – कारवोल प्लस कैप्सूल का उपयोग

Karvol Plus Capsule के Use निम्नलिखित कंडीशन/प्रॉब्लम में कर सकते हैं।

  • किसी को सर्दी – जुकाम बहुत ज्यादा होने पर, नाक बंद हो जाने या बहुत ज्यादा नाक बहने पर Karvol Plus Capsule का यूज किया जाता है।
  • किसी को सांस लेने में प्रॉब्लम होने पर।
  • फेफड़ों में बलगम जम गया हो तो इसका इस्तेमाल उसे बाहर निकालने में किया जाता है।
  • इसका उपयोग खांसी में भी किया जाता है।

Karvol Plus Capsule का Composition क्या होता है?

Karvol Plus Capsule के Composition की बात की जाए तो इसमें निम्नलिखित पदार्थ मिले हुए होते हैं। जो नीचे सारणी में दिया हुआ है।

Components Amount
कैंफर 25 mg
मेंथॉल 55 mg
टरपिनोल120 mg
क्लोरोथाइमोल 5 mg
Eucalyptol 125 mg
Karvol Plus Capsule Composition

मेंथॉल, कैंफर और Eucalyptol तीनों में Analgesic दर्द को कम करने, गले में बनने वाले कफ को कम करने और cool effect देने का गुण होता है जो श्वसन तंत्र (Respiratory tract) के कार्य को अच्छा करने या बढ़ाने में मदद करता है।

टरपिनोल, क्लोरोथाइमोल और Eucalyptol तीनों के पास एंटीसेप्टिक और एंटी इनफेक्टिव गुण होते हैं जो कि विभिन्न तरह के सूक्ष्म जीवों को मारता है सांस लेने में होने वाली तकलीफों को दूर करता है।

दोस्तों इस लेख को पूरा पढ़े क्योंकि जो भी प्रोडक्ट हम इस्तेमाल करना चाहते हैं। उसके साइड इफेक्ट भी हमें मालूम होनी चाहिए। और साथ-साथ उसकी पूरी जानकारी भी होनी चाहिए।

Karvol Plus Capsule Side Effect in Hindi – कारवोल प्लस कैप्सूल के दुष्प्रभाव

हालांकि Karvol Plus Capsule के ज्यादा Side Effect नहीं देखे गए हैं लेकिन कुछ सामान्य साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

तो चलिए अब Karvol Plus Capsule के Side Effect के बारे में जान लेते हैं।

  • कैप्सूल के भाप लेने के बाद चक्कर आना। (Dizziness after inhaling the capsule)
  • गले में खराश या दर्द (sore throat or pain)
  • नींद न आना (Insomnia)
  • पेट में दर्द (stomach ache)
  • नाक में सूजन (swelling in the nose)
  • श्वास नली में जलन (respiratory tract irritation)

इन्हे भी पढ़े

Karvol Plus Capsule Contraindication in Hindi

किन लोगो को Karvol Plus Capsule के इस्तेमाल से बचना चाहिए?

  • जिन्हें ह्रदय से संबंधित कोई प्रॉब्लम हो।
  • गर्भवती महिलाएं इसका उपयोग न करें।
  • स्तनपान कराने वाली महिला इसका इस्तेमाल न करें।

अगर आप Karvol Plus Capsule का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो सबसे पहले डॉक्टर का सलाह ले उसके बाद इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Karvol Plus Capsule Benefits in Hindi – कारवोल प्लस कैप्सूल के फायदे क्या है?

  • जिन्हें जुकाम हो जाता है, नाक बंद होने लगती है उन्हें सांस लेने में बहुत ही दिक्कत होती है तो इस कैप्सूल के भाप लेने से तुरंत ही राहत मिलती है।
  • बहुत लोगों के सीने में बलगम जमा हो जाता है जिसे निकालने में बहुत ही दिक्कत होती है। तो इसे निकालने के लिए Karvol Plus Capsule कारगर सिद्ध होता है।
  • कई लोगों को बहुत ज्यादा खांसी होती हैं तो उसी स्थिति में भी Karvol Plus Capsule काफी राहत देता है।
  • और कई लोगों को सांस लेने में बहुत ज्यादा प्रॉब्लम होती है । तो उसी स्थिति में भी Karvol Plus Capsule का उपयोग कर सकते हैं।
  • यह सांस की नालियों को खोल देता है।
  • यदि किसी व्यक्ति को अस्थमा की शिकायत है तो उस कंडीशन में Karvol Plus Capsule किया जा सकता है।

Karvol Plus Capsule का इस्तेमाल कैसे करें?

तो चलिए अब जान लेते हैं Karvol Plus Capsule को Use करने का तरीका क्या है?

  • इस कैप्सूल को खाया नहीं जाता है। इस कैप्सूल का भाप लिया जाता है।
  • गर्म पानी में इस कैप्सूल को मिलाकर इसके भाप को नाक के द्वारा लिया जाता है। यह प्रोसेस आपको दिन में दो से तीन बार तथा 2 से 3 दिन तक लगातार करनी होती है।
  • इसका उपयोग आप कोई भी नेबुलाइजर या बर्तन में गर्म पानी लेकर कर सकते हैं।
  • अगर आप इस तरीकों को अपनाने में असमर्थ है तो कैप्सूल को फोड़कर अपने रुमाल में लगा ले। जिसके बाद आप उसे धीरे-धीरे सूंघ सकते हैं।

Karvol Plus Capsule Storage in Hindi

Karvol Plus Capsule के Storage की बात की जाए तो इसे Cool और Dry Place पर रखना चाहिए। और इसे बच्चों और जानवरों से दूर रखना चाहिए।

Karvol Plus Capsule से सम्बंधित प्रश्न – उत्तर {FAQs}

Karvol Plus Capsule के Subsitute क्या – क्या है?

Karvol Plus Capsule के Subsitute निम्नलिखित है –
Nasoclear Vapo Capsule, Kolq Inh Capsule, Solvin Vapocaps Capsule आदि।

कारवोल प्लस कैप्सूल का इस्तेमाल क्या बालों में किया जा सकता है?

बिल्कुल नहीं, कारवोल प्लस कैप्सूल का इस्तेमाल बालों में नहीं किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल केवल श्वसन तंत्र से संबंधित समस्या पर किया हैं।

Karvol Plus Capsule का इस्तेमाल क्या बंद नाक को ठीक करने में किया जाता है?

जी हां Karvol Plus Capsule का इस्तेमाल क्या बंद नाक को ठीक करने में किया जाता है। यह कैप्सूल Nasal Decongestant के रूप में यूज होता है।

क्या Karvol Plus Capsule विटामिन ई के जैसा कैप्सूल है?

बिल्कुल नहीं, Karvol Plus Capsule विटामिन ई के जैसा कैप्सूल नहीं है इसके Component विटामिन ई के Component से बिल्कुल अलग है हालांकि दोनों दिखने में एक ही तरह के होते हैं।

क्या Karvol Plus Capsule का इस्तेमाल Orally किया जा सकता है?

Karvol Plus Capsule का इस्तेमाल Orally बिल्कुल नहीं किया जा सकता है। इसे केवल स्टीम के रूप में लिया जाता है।

आजकल इस Karvol Plus Capsule का डिमांड क्यों बढ़ रहा है?

दिनों – दिन आजकल एक से बढ़कर एक प्रकार की महामारी फैलती जा रही है। तो ऐसी स्थिति में ज्यादातर लोगों में श्वसन संबंधी समस्याएं देखने को मिल रही है। जिससे नेबुलाइजर उपकरण महंगे हो गए हैं। जिसके कारण Karvol Plus Capsule का डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ गया है।

Karvol Plus Capsule कैसे काम करता है?

Karvol Plus Capsule Histamine H1 के लेवल को कम करते हैं जो कि Bronco-constriction के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसके साथ ही साथ Mucus को भी पतला करता है। जिससे कि नाक तथा खांसी के द्वारा Mucus (बलगम) जल्दी बाहर निकल सके।

क्या Karvol Plus Capsule का प्रयोग बुजुर्ग और बच्चों द्वारा भी किया जा सकता है?

जी हां, Karvol Plus Capsule का प्रयोग बुजुर्ग और बच्चों द्वारा भी किया जा सकता है। लेकिन जो बच्चे 3 महीने से कम उम्र के हैं उनमें इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

Karvol Plus Capsule का इस्तेमाल कब किया जाता है?

Karvol Plus Capsule का इस्तेमाल श्वसन तंत्र से संबंधित समस्या होने पर किया जाता है। जैसे सर्दी,नाक बंद होना और जुकाम आदि।

Karvol Plus Capsule का थैरेपीयूटिक क्लास कौन सा है?

Karvol Plus Capsule का थैरेपीयूटिक क्लास कफ एंड कोल्ड प्रिपरेशन है।

Karvol Plus Capsule कौन से रंग का होता है?

Karvol Plus Capsule हरे रंग का होता है जो सॉफ्ट जिलेटिन का बना होता है।

क्या Karvol Plus Capsule का कोई साइड इफेक्ट है?

जी हां Karvol Plus Capsule का साइड इफेक्ट देखा जा सकता है कोई भी प्रॉब्लम होने पर तुरंत ही अपने डॉक्टर से संपर्क करें और उन्हें अपना प्रॉब्लम बताएं।

Final Word On Karvol Plus Capsule

तो ये छोटी सी जानकारी थी Karvol Plus Capsule Uses, Side Effect, Benefit, Composition, Dosage in Hindi अर्थात कारवोल प्लस कैप्सूल का उपयोग, दुष्प्रभाव, फायदे, संगठन, खुराक क्या है? के बारे में। जो आपके लिए जानना आवश्यक था उम्मीद करते है ज्यादा से ज्यादा जानकारी मिलने के साथ – साथ यह लेख आपको पसंद आया होगा।

अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो हमारे इस लेख को लोगों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और निरंतर लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें।

“कोई भी दवाई इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। डॉक्टर के सलाह के बिना कोई भी दवाई उपयोग ना करें।” धन्यवाद

I am Drx Tamesh Sonkar, Founder of Tabletuseshindi.in. My age is now 21 years and I am student of Bachelor of Pharmacy last year. I like to know and give information about Medicines.

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap